,

ब्रेस्ट आयरनिंग…..लड़कियों के ब्रेस्ट को गर्म पत्थर से दागने की प्रथा !

ताकि लड़की को बलात्कार से बचाया जा सके……??

महिलाओं पर होती इस क्रूरता को पड़कर आपका दिल दहल जायेगा !!!

यूँ तो हम अपने आप को 21 वीं सदी का मानते ….बातें हम 22 वीं सदी की करतें है …….और कर्म हमारे 10 वीं सदी से भी गए बीतें है | महिलाओं पर होने वाले अत्याचारों को लेकर चाहे हम अपने देश की बात करे या समूचे विश्व की लेकिन बात तो एक सी ही नजर आती है | कई बार जहाँ लड़कियां कुछ दरिंदो का शिकार बन जाती है तो कई बार कितने देशों की क्रूर परम्पराए लड़कियों पर अत्याचार की साक्षी बनती है |

women sex assault
DEMO PIC | via – sputnik

जैसे आज हम बात कर रहे है साउथ अफ्रीका, कैमरून और नाइजीरिया जैसी जगहों की, जहाँ लड़कियों को ब्रैस्ट आयरनिंग प्रथा के चलते असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है | जी हाँ, यह एक ऐसी सच्चाई है जिसे हमें स्वीकारने की जरुरत है |

Breast Ironing
छाती को समतल करने के लिए एक अफ्रीकी लड़की के चारों ओर बेल्ट बंधा है | via – Vanity Fair

दरअसल यहाँ किशोरावस्था शुरू होते ही लड़कियों के ब्रेस्ट को गर्म लकड़ी के टुकड़े, हथौड़े या पत्थर से दागा जाता है | ऐसा कुकर्म केवल इसलिए किया जाता है ताकि उसका सीना सपाट ही रहे और ब्रेस्ट के आकार में ना आ पाए |

Breast Ironing
via – Daily Mirror & Okletras

आज भी कई जगह ये प्रथा चलन में है ….. 

अभी कुछ समय ही इस बात का खुलासा हुआ है कि ब्रिटेन में रहने वाले अफ्रीकी समुदाय की लड़कियों को इस प्रथा के कारण बहुत दर्द का सामना करना पड़ता है | जबकि सुनने में यह भी आया है कि कैमरून की करीब 50 फीसदी लड़कियां तो इस दर्द की चपेट में आ चुकी है | इसके अलावा अफ्रीका में इस दर्दनाक प्रथा का अधिक चलन है |

ब्रैस्ट आयरनिंग पर CNN चैनल की एक रिपोर्ट 

Source – CNN

आखिर क्यों जरुरत पड़ी ऐसा करने की ?

ताकि लड़की को बलात्कार से बचाया जा सके |

इससे वे शादी के पहले प्रेग्नेंट होने से भी बच जाएगी |

सुन कर ही अजीब लगता है पर इस प्रथा को लेकर यहाँ के लोगो का यही कहना है !!! इसके अंतर्गत 10 साल से कम उम्र की कई लड़कियों की ब्रेस्ट आयरनिंग की जाती है | मामले में एक लड़की की माँ ने बताया है कि यह सिलिसला 2 से 3 महीनो तक ऐसे ही चलता है और लड़की को बार बार इस दर्द से गुजरना होता है |

शारीरिक  और मानसिक स्वस्थ के हिसाब से कितना खतरनाक है ब्रैस्ट आयरनिंग ?

ब्रेस्ट आयरनिंग बेहद दर्दनाक है और ऊतक क्षति पैदा कर सकता है। इसके प्रभाव पर अब तक कोई चिकित्सा अध्ययन नहीं हुआ है। हालांकि, चिकित्सा विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि यह स्तन कैंसर, अल्सर जैसी बिमारियों को बढावा दे सकती है, और संभवतः बाद में महिलाओ को अपने बच्चे को करवाने वाले स्तनपान पर भी प्रभाव दाल सकती है | GIZ द्वारा एक अध्ययन में यह रिपोर्ट किया गया है कि इससे होने वाले अन्य संभावित दुष्प्रभाव में स्तन संक्रमण, फोड़े, विकृत स्तनों और एक या दोनों स्तनों के उन्मूलन का गठन होने की सम्भावना है।

BREAST IRONING
via – 9jas

कहने की जरूरत नहीं है कि यह प्रक्रिया बेहद दर्दनाक है और लड़की की शारीरिक अखंडता का उल्लंघन करती है। लडकियों को इतना दर्द सहन करता पड़ता है कि वे जीवनभर नहीं चाहती कि किसी को भी अपने स्तनों को छूने दे। इसके अलावा, भविष्य में चपटी छाती से शर्मिंदगी का एहसास, लड़कों की तरह दिखना यह उनका आत्मविश्वास और उनके सामाजिक और मनोवैज्ञानिक कल्याण को नष्ट करता है |

बात करें यूनाइटेड नेशंस की तो यहाँ ब्रेस्ट आयरनिंग प्रथा को लिंग आधारित हिंसाओं की कैटेगरी में रखा गया है |
हमारा सवाल है कि आखिर यह कैसी प्रथा है कि रेप से बचने के लिए एक लड़की को ऐसे असहनीय दर्द का सामना करना पड़े |

women Fight Domestic Violence
DEMO PIC | via – Peace First Challenge

आप ही बताइये क्या यह सही है | नीचे कमैंट्स में अपनी राय जरूर दे |

loading...

What do you think?

53 points
Upvote Downvote

Total votes: 1

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 1

Downvotes percentage: 100.000000%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *