no drinking no smoking in films zingag

, ,

सेंसर बोर्ड के इस नए फरमान से अब कभी नहीं बन पायेगी एक और ‘देवदास’, जाने क्यों

इन दिनों फिल्म इंडस्ट्री के सेंसर बोर्ड के चीफ पहलाज निहलानी काफी चर्चा में है| अभी अभी उनके द्वारा जारी किये गए फरमान के तहत अब से फिल्मों में शराब और सिगरेट वाले सीन्स को बैन कर दिया गया है| सेंसर बोर्ड के चीफ के अनुसार इन फ़िल्मी सितारों की फैन फोल्लोविंग की वजह से लोग इन्हें अपना आदर्श मानते है और इनकी नक़ल भी करते है| अगर ये लोग परदे पर शराब और सिगरेट पियेगे तो लोगों पर बुरा पड़ेगा और समाज में एक गलत सन्देश जायेगा| इसलिए फिल्मों में ऐसे सीन्स अब से नहीं दिखाए जाएंगे। इससे ये बात तो साबित हो चुकी है की फिल्म इंडस्ट्री में अब एक और नई देवदास नहीं बन पायेगी|

 

no drinking no smoking in films zingag
  via- India Today

पहले क्या थे नियम ?

खेर बता दे की ये विवाद कोई नया नहीं है इससे पहले भी स्मोकिंग और ड्रिंकिंग के सीन दिखाने को लेकर पहले भी सेंसर बोर्ड कई ऐसे अनोखे फरमान जारी कर चूका है| इसके पहले के नियम अनुसार कोई भी डायरेक्टर शराब और सिगरेट के दृश्यों को चेतावनी के साथ दिखा सकता था, पर पहलाज निहलानी जी ने पुरे सीन को ही काटने की बात कह डाली है| उनके इस फैसले से एक बार फिर फिल्म इंडस्ट्री में विरोध की लहर दोड़ पड़ी है| अब देखने वाली बात ये होगी की ये मामला कहाँ तक जाता है|

no drinking no smoking in films zingag
via- The Indian Express

सेंसर बोर्ड ने यहाँ भी चलायी है कैची

अभी हाल ही में निहलानी जी ने कई फिल्मों पर उनके व्यस्क विषय वस्तु की वजह उनपर कैची चलायी है| फिल्मे जैसे लिपस्ट‍िक अंडर मॉय बुर्का को इसलिए सर्टिफिकेट नहीं दिया गया क्योंकि यह महिलाओं के मुद्दे पर आधारित थी जोकि हमारे संस्कारों के खिलाफ थी।

no drinking no smoking in films zingag
via- Zingag

पिछले हफ्ते ही मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ में 14 सीन्स पर कैंची चलाई। तो वहीँ शाहरुख खान की फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ में ‘इंटरकोर्स’ शब्द को लेकर आपत्ति जताई थी|

loading...

What do you think?

576 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *