,


क्या आप जानते है शाकाहारियों की उम्र मांसाहारियों के मुकाबले लम्बी होती है?

via - The Odyssey Online

Health Desk: कुछ समय पहले तक यह मान्यता थी कि माँसाहार से शरीर हष्ट-पुष्ट होता है। शरीर को बलवान बनाने के लिए माँसाहार पर ही जोर दिया जाता था, पर अब उक्त धारणा बदलने लगी है। भोजन में माँसाहार को तवज्जो देने वाले लोग मानने लगे हैं कि माँसाहार बलवर्द्धक तो होता ही नहीं उलटे स्वास्थ्य पर विपरीत असर डालता है। इसीलिए दुनिया के कई देशों में शाकाहार को प्राथमिकता दी जाने लगी है। यह माना जाने लगा है कि शाकाहार शक्तिवर्द्धक तो होता ही है इससे स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता, साथ ही यह शरीर को निरोग रखता है। वैज्ञानिक अलबर्ट आइंस्टीन ने कहा था कि धरती पर जीवन बनाए रखने में कोई भी चीज मनुष्य को उतना फायदा नहीं पहुँचाएगी जितना की शाकाहार का विकास।

भारत को शाकाहार का जन्मस्थल कहा जाता है

vegetarian food better than non vegetarian food zingag 2
via – Rajdhani

दुनियाभर में शाकाहार को बढ़ावा देने वाली प्रतिष्ठित संस्था पेटा की प्रवक्ता बेनजीर सुरैया का कहना है कि भारत शाकाहार का जन्मस्थल रहा है। फ्रेंड्स आॅफ अर्थ नामक संस्था के मुताबिक दुनियाभर में 50 करोड़ लोग पूरी तरह से शाकाहारी हैं। करीब 740 करोड़ की आबादी वाली दुनिया में भारत में सबसे ज्यादा शाकाहारी हैं। भारत की 31 फीसदी जनसंख्या शाकाहारी है।

दुनिया में तीन तरह का भोजन करने वाले लोग हैं। पहले जो माँसाहारी हैं। दूसरे वे जो शाकाहारी हैं और तीसरे वो जो शाकाहारी है और जानवरों से प्राप्त किए जाने वाले उत्पाद जैसे दूध का सेवन भी नहीं करते। ऐसे लोगों को वीगन कहा जाता है।

अमेरिका की नेशनल एकेडमी आॅफ साइंस की स्टडी के मुताबिक अगर शाकाहार को भोजन में ज्यादा से ज्यादा जगह दी जाए तो दुनिया में हर साल होने वाली 50 लाख मौतों को टाला जा सकता है। यह आम धारणा है कि शाकाहारी भोजन से माँसाहारी लोगों की तुलना में मोटापे का खतरा एक चैथाई ही रह जाता है लेकिन इसके बावजूद लोग माँसाहार से नहीं चूकते। पेटा की प्रवक्ता बेनजीर का कहना है कि खाने के लिए पशुओं की आपूर्ति में बड़े पैमाने पर जमीन, खाद्यान्न और पानी की जरूरत होती है। कुछ समय पहले संयुक्त राष्ट्र ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि जलवायु परिवर्तन को रोकने, प्रदूषण को कम करने, जंगलों को काटे जाने से रोकने और दुनियाभर में भुखमरी को खत्म करने के लिए वैश्विक स्तर पर शाकाहारी भोजन अपनाया जाना जरूरी है।

वेजीटेरियन खाने में है वो सबकुछ, जो जरुरी है लम्बी आयु के लिए

vegetarian food better than non vegetarian food pyramid zingag
via – rawfoodlife

भारत में हृदय से जुड़ी बीमारियाँ, डायबिटीज और कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और इसका सीधा संबंध माँस, अंडे और डेयरी उत्पादों जैसे मक्खन, पनीर और आय.पी.एम. की बढ़ रही खपत से है। भारत में तेजी से बढ़ रहे डायबीटिज-2 से पीड़ित लोग शाकाहार अपनाकर इस बीमारी पर नियंत्रण पा सकते हैं। शाकाहारी खाने से कालेस्ट्राॅल नहीं बढ़ता। शाकाहार में बहुत कम वसा होती है और यह कैंसर के खतरे को 40 फीसदी तक कम करता है।

मनुष्य के शरीर के लिए ऊर्जा, शक्ति और पोषण हेतू प्रोटीन, शर्करा, वसा, विटामिन्स, खनिज एवं रेशे आदि पदार्थ उचित अनुपात में अत्यंत आवश्यक हैं। शाकाहार में सभी प्रकार के पौष्टिक और श्रेष्ठ गुणवत्ता युक्त तत्व पर्याप्त मात्रा में विद्यमान होते हैं। भारी-भरकम और कुपाच्य माँसाहार की तुलना में साधारण से न्यूनतम शाकाहारी पदार्थों से शरीर को आवश्यक पोषण और ऊर्जा प्रदान की जा सकती है। शाकाहारी संस्कृति में इस पोषक मूल्यों का प्रबंधन युगों-युगों से चला आ रहा है। इतना ही नहीं बहुमूल्य खनिज का शाकाहार से ही प्राप्त होना संजीवनी बूटी के समान है, जो कि माँसाहारी पदार्थों में नदारद है। इसलिए मांसाहारियों के मुकाबले शाकाहारियों की उम्र लम्बी होने की आशंका अक्सर जताई जाती है| 

दुनियाभर की कई नामचीन हस्तियों ने अपनाया है शाकाहार

vegetarian food better than non vegetarian food zingag
via – FilmiBeat

गौरतलब है कि पश्चिम के पूर्ण विकसित और संपन्न जनसमुदायों ने भी शाकाहार को अपना कर इसके महत्व को माना है। स्वीडन के प्रसिद्ध अब्बा बैंड की सदस्य ऐनी ने पिछले 25 सालों से मांस नहीं खाया। वे कहती हैं कि उनकी खूबसूरती तथा सेहत का राज उनका शाकाहारी होना है। इसी तरह स्पेन की स्टार सोपरानो (गायिका) का दिल भी जानवरों के लिए धड़कता है। वे शुद्ध शाकाहारी हैं। म्युजिक बैंड रोलिंग स्ओन्स के ड्रमर उन सेलिब्रिटी की लिस्ट पर हैं जो दिल से शाकाहारी हैं। पशु क लिए अपने प्यार के कारण जुड़वाँ स्टार टाॅम और बिल काॅलिप्स 2009 में शाकाहारी हो गए। बीटल म्यूजिक बैंड के सदस्य शुद्ध शाकाहारी हैं। वे लीजा सिंपसन में शाकाहारी जिंदगी जीने के टिप्स भी देते हैं। यूरोप में शाकाहारी ही नहीं शुद्ध वीगन खाने की भी कोई कमी नहीं है। इसके अलावा माइक टायसन (बाॅक्सिंग), कार्ल लुईस (एथलीट), वीनस विलियम्स (टेनिस), मार्टिना नवरातिलोवा (टेनिस), मैक डेजिंग (मिक्स्ड मार्शल आर्ट), हाना टेटर (स्नोबार्डेर), डेव स्काॅट (ट्राईथेलन), बिली जिन किंग (टेनिस), सुशील कुमार (कुश्ती) ये सभी शाकाहारी भोजन को सेहतमंद जीवन की कुँजी मानते हैं।

loading...

What do you think?

576 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *