varun dhawan

,

क्या आप जानते है कि पुरुषों के निपल्‍स क्‍यों होते हैं?


कुदरत ने हम सभी इंसानों के शरीर पर निपल्‍स दिए हैं और जब कभी भी पुरुषों के निपल्‍स की तरफ देखा जाये तो अचम्‍भा होता है कि पुरुषों के पास निपल्‍स क्‍यूं होते हैं? आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको मानव शरीर की रचना और उससे जुड़े वैज्ञानिक कारणों के बारे में बताएंगे की किस तरह ये निपल्स हमारे शारीर में विकसित होते है | आइए जानते है कि क्‍यों पुरुषों में भी निपल्‍स पाए जाते हैं, जबकि न तो उनसे दूध बनता है और न हीं वो अपने बच्‍चों को स्‍तनपान करवा सकते हैं।

कहते है पुरुषों में महिलाओं का ही ब्‍लूप्रिंट होता हैं

4 week fetus
via – Youtube Image

गर्भकाल के पहले 4 हफ्तों में मानव भ्रूण का आनुवंशिक रूप तैयार हो जाता हैं। सामान्‍यता गर्भ में सबसे पहले महिला भ्रूण तैयार होता हैं। चाहे वो कोई भी लिंग हो लेकिन शुरुआत के चार हफ्तों का गर्भ एक महिला भ्रूण की तरह ही विकसित होता हैं। इन 4 हफ्तों के बाद Y गुणसूत्र सक्रिय हो जाता है और गर्भ में पुरुष भ्रूण का रुप ले लेते हैं।

शरीर में मौजूद मिल्‍क लाइन गर्भ में ही बन जाती है

Pregnancy Anatomy,Xray side view of fetus in utero, Black background
via – SuperStock

सबसे पहले स्‍तन या निपल्‍स लाइन तैयार होती हैं जब गर्भ में भ्रूण विकसित होने लगता हैं | ये ऊपरी धड़ से निचले पेट को अलग करता हैं। कई शोध ने बताया है कि ये मिल्‍क लाइन XX और XY गुणसूत्र के विभाजित होने से पहले ही बन जाती हैं।

टेस्टोस्टेरोन पर निर्भर करता हैं निपल्‍स की साइज

man nipples
via – arestetic

गर्भ में मोजूद टेस्‍टोस्‍टेरोन से दूध की रेखाएं स्तन के ऊतकों को कम करने के लिए भ्रूण के चक्कर लगाती है। इस कारण से पुरुषों के निपल्‍स का साइज तुलनात्‍मक कम होता हैं।

पुरुषों को भी हो सकता हैं ब्रेस्‍ट कैंसर

perfect-chest-nipples
via – gnet

हालांकि मर्दों के निपल्‍स काफी छोटे होते हैं, लेकिन बावजूद इसके कई तरह की शारीरिक समस्‍याएं उन्हें हो सकती हैं| पुरुषो के पास भी स्‍तन ऊतक होते हैं, जिस वजह से उन्‍हें भी ब्रेस्‍ट कैंसर का खतरा बना रहता हैं।

loading...

What do you think?

576 points
Upvote Downvote

Total votes: 2

Upvotes: 1

Upvotes percentage: 50.000000%

Downvotes: 1

Downvotes percentage: 50.000000%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *